Blog

February में सिर्फ २८ दिन क्यों होते हैं ? एक वेहमी राजा के कारन |

सितम्बर, अप्रैल, जून, और नवंबर में ३० दिन होते हैं और बाकि के महीने ३१ दिन के तोह फिर बेचारा फेब २८ दिन का ही क्यों होता है | इसके लिए रोमन्स और उनके वेहम दोषी हैं |

चलिए शुरआत से जानते हैं की ऐसा क्यों हुआ ? 

प्राचीन रोम में महीने नाम की कोई चीज़ नहीं थी | अगर लोग ध्यान से देखें तो उन्हें पता चल जाता था की मौसम बदल गया है और सूरज कब डूबा और कब ऊगा | रोम के कल्पित निर्माता रोम्यूलस को लगा की उसे एक कैलेंडर की जरुरत है | साल में बढ़ते त्योहारों और गतिविधियों के कारन उसे लगा की एक ऐसा उपाय होना चाहिए जिससे वो हर चीज़ का हिसाब रख सके | और इस तरह से जनम हुआ १० महीने के कैलंडर का । ये चंद्र कैलंडर की शुरआत मार्च से होती थी और अंत दिसंबर में | और जो बच गए ? खैर बिना सर पैर का समय ऐसे भी किसी काम का नहीं था |

yH5BAEAAAAALAAAAAABAAEAAAIBRAA7 - February में सिर्फ २८ दिन क्यों होते हैं ? एक वेहमी राजा के कारन |
google images

जनवरी और फरबरी का जन्म |

फिर बरी आती है रोम के दूसरे राजा की जिनका नाम नुमा पोम्पिलियस था | उन्होंने कैलेंडर में फिर से बदलाब किया | इस बार के चंद्र कैलेंडर में ३५६ दिन थे | इतने सारे अतिरिक्त दिनों के कारन उसे दो महीने और जोड़ने पड़े और जनम हुआ जनबरी और फरवरी का | पर असली कहानी तोह अब शुरू होती है | नुमा एक बहुत ही वेहमी आदमी था उन दिनों  even अंको को अशुभ माना जाता था | तो इसलिए हर एक महीने को २८ दिन से शुरू करने के बाजए उसने अंको को आपस में मिला दिया पर एक महीना इस पागलपन से बच गया और हाँ आप सही समझे वो फरबरी था| चैलिये देखते हैं आखिर वो कर काया रहा था :-

Maritus: 31 days

Aprilius: 29 days

Mailus: 31days

Iunius: 29 days

Quintillis: 31 days

Sextilis: 29 days

september: 29 days

october: 31 days

November: 29 days

Ianuarius : 29 days

Februarius : 28 days

आज के कैलेंडर की कहानी |

कुछ साल बाद मौसम इस कैलेंडर से बिलकुल मेल नहीं खाने लगे आखिर ये सिर्फ ३५५ दिन का ही कैलंडर था | रोमन्स हर बार कुछ दिनों में लीप महीना रखने लगे जिसे मेरसडोनियस कहा जाता था | और इन सबको और कठिन बनाने के लिए नेता लोग अपनी मन मर्ज़ी से लीप महीना रखने लगे| ऐ एक बहुत बेकार स्थिति थी |

जूलियस सेजर के सत्ता में आने के बाद उसने इस स्थिति को सुधारने का सोचा | जूलियस ने लीप महीनो को ख़तम कर सूर्य से निर्धारित कैलेंडर बनाया, और चीज़ो को वापस सही करने के लिए ४६ इसा को ४४५ दिन लम्बा रखा गया | उसने कैलेंडर में और अतिरिक्त दिनों को जोड़ा जिससे नया कैलेंडर ३६५.२५ दिनों का हो गया और जो लीप महीना था वो अब सिर्फ एक लीप दिन बन कर रह गया जो हर ४ साल बाद फरबरी में जोड़ा जाने लगा | इस तरह हमारे नए कैलेंडर का जनम हुआ जिसे एक बार और पोप ग्रेगोरी ने बदलवाया पर ये किसी और दिन की कहानी है |

 

 

2 thoughts on “February में सिर्फ २८ दिन क्यों होते हैं ? एक वेहमी राजा के कारन |

Leave a Reply